Trending News

आगरा में नम आंखों से शहीद दारोगा प्रशांत को दी गई अंतिम विदाई,सीएम योगी ने दिए 50 लाख रुपए

[Edited By: Punit tiwari]

Thursday, 25th March , 2021 01:18 pm

आगरा-ताजनगरी आगरा में दबंगों ने दारोगा प्रशांत की गोली मारकर की हत्या कर दी। दारोगा विवाद की सूचना पर मौके पर पहुंचे थे । दरअसल, दो भाइयों के बीच आलू खुदाई को लेकर विवाद हुआ था । इसी दौरान मौके पर दारोगा को देख कर छोटे भाई ने गोली चला दी। ये घटना खंदौली के नाहर्रा गांव की है।

इस घटना के बाद सीएम योगी ने आर्थिक मदद का ऐलान किया है। साथ ही शरीद एसआई के नाम पर सड़क के नामकरण का भी ऐलान किया। योगी सरकार ने पीड़ित परिजनों को 50 लाख की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है। 

 

शहीद दरोगा प्रशांत यादव को पुलिस लाइन में अंतिम विदाई दी गई। इस दौरान पुलिस अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। गुरुवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद दरोगा के पार्थिव शरीर को पुलिस लाइन लाया गया। इस दौरान एडीजी जोन राजीव कृष्ण, आईजी ए सतीश गणेश और एसएसपी बबलू कुमार सहित जिले के एसपी, सीओ सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे। दरोगा को नम आंखों के साथ अंतिम विदाई दी गई।  अधिकारियों ने अर्थी को कंधा दिया। इस दौरान परिवार के लोग मौजूद रहे। 

दरअसल, आगरा के थाना खंदौली क्षेत्र के गांव नहर्रा निवासी दो भाइयों में आलू के बंटवारे को लेकर बुधवार शाम विवाद की सूचना मिलते ही दारोगा प्रशांत यादव , सिपाही चंद्रसेन व एक अन्य सिपाही के साथ मौके पर निकले। घटना स्‍थल पहुंचते ही पुलिस टीम पर आरोपित हमलावर हो गए। इसी बीच आरोपित ने दारोगा की गोली मारकर हत्या कर दी। सिपाहियों ने भागकर जान बचाई। 

 

आईजी रेंज आगरा के मुताबिक शिवनाथ और विश्वनाथ दो सगे भाई हैं। शिवनाथ बड़ा है विश्वनाथ छोटा है। शिवनाथ अपने पिता के हिस्से से निकले आलू को बाजार में बेचने के लिए जा रहा था। जिस पर विश्वनाथ ने मां का भी हिस्सा देने की बात कर विवाद किया। विवाद बढ़ता देख बड़े भाई शिवनाथ ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर सब इंस्पेक्टर प्रशांत एक कान्स्टेबल के साथ पहुंचे। पुलिस को आता देख छोटा भाई विश्वनाथ वहां से भागने लगा और भागते हुए उसने दो फायर किए। जिसमें से एक गोली सब इंस्पेक्टर की गर्दन में जा लगी और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। आरोपी विश्वनाथ फिलहाल फरार है, उसकी तलाश की जा रही है।

Latest News

World News